हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।

 Hindi Poetry में आप सभी लोगो का स्वागत है , दोस्तों अगर आपलोगो को Poetry पढ़ना अच्छा लगता है तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है। हमारे वेबसाइट में Hindi me Kabita,Poems of Life in HindiLovers Life Poem in Hindi, Breakup Poems in Hindi  इन सभी Topics के ऊपर हिंदी में कबिताएँ होती है।  हाँ तो दोस्तों आज की ये Poetry उन लोगों के लिए जो जिन्हें सच्चा प्यार तो हो जाता है पर उसके GF/BF के दिल में कोई और रहता/रहती है।

*हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं :-

हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।


किसी को इश्क़ हुआ नहीं,
किसी ने इश्क़ किया नहीं,
हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।
कई मुद्दतों बाद कोई पसंद दिल को आयी थी,
और उसने भी तो दिल में अपने किसी और को बसाया था।
अधूरा मेरा ख्वाब पूरा आज तक हुआ नहीं,
और हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।
न जाने जिंदगी में क्यों बार-बार ऐसा होता है,
नसीब में नहीं है जो इश्क़ हमेशा उसी से होता है,
क्यों हमको अपने जैसी कोई आजतक मिला नहीं,
और हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।
सोचता हूँ ये इश्क़ की दिवार आज तोड़ दूँ,
और जिसने तोड़ा था मुझे उसी से ये दिल को जोड़ लूँ,
पर उसको भी तो इश्क़ कभी मुझसे हुआ नहीं,
और हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।
ऐसा नहीं की इश्क़ मुझसे हमेशा से ही रूठा था,
पर उसने जो कि थी मुझसे वो हर एक वादा झूठा था।
क्यों उसका झूठा प्यार मुझसे आज तक छूटा नहीं,
और हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।
की किसी को इश्क़ हुआ नहीं,
किसी ने इश्क़ किया नहीं,
और हमको जिससे इश्क़ हुआ उसको हमसे हुआ नहीं।

Post a Comment

0 Comments