चल यार ऐसा करते हैं अब से हम बात नहीं करते

 Hindi Poetry में आप सभी लोगो का स्वागत है , दोस्तों अगर आपलोगो को Poetry पढ़ना अच्छा लगता है तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है। हमारे वेबसाइट में Hindi me Kabita,Poems of Life in HindiLovers Life Poem in Hindi, Breakup Poems in Hindi  इन सभी Topics के ऊपर हिंदी में कबिताएँ होती है। तो चलाए आज की poetry शुरू करते है।

*चल यार ऐसा करते हैं अब से हम बात नहीं करते:-

चल यार ऐसा करते हैं अब से हम बात नहीं करते


 माना कि हम अदब से बात नहीं करते,
पर ये भी मानो हम मतलब से बात नहीं करते,
नर्म लहजा प्यारी बातें सब तेरे लिए है,
हम इस लहजे में सब से बात नहीं करते,
आज किसी ने एक सवाल पूछकर रुला दिया,
की तुम दोनों यार कब से बात नहीं करते।
खामोशी ने जब हम दोनों पे काबू पा लिया,
प्यार तो करते रहे पर तब से बात नहीं करते,
तू भी तंग आ गया है और में भी खुश नही अब,
चल यार ऐसा करते हैं अब से हम बात नहीं करते।
जब से तेरी सोहबत में रह रहा हूँ बुरा लग रहा है,
अब थक कर तुझसे ये कह रहा हूँ बुरा लग रहा है,
जिनके इशारो से मौसम के रुख बदलते थे,
आज उन्ही आँखों से दरियां बह रहा है बुरा लग रहा है,
यकीन मान वो तेरी सब बातों पर,
अच्छा बेसक कह रहा है पर बुरा लग रहा है,
बिछड़ने के अलावा कोई रास्ता बाकी नही अब,
बात समझ तू लड़ बेवजह रहा है बुरा लग रहा है,
और तुम चाहती हो तुम्हारी दुआ के लिए टूट जाए,
सोच एक सितारा क्या-क्या सह रहा है बुरा लग रहा है,
मेरी जान अब तुझसे नफ़रत ही करूँगा में,
बात ये गांठ बांध लें बुरा लग रहा है।

Post a Comment

0 Comments